हथियार लहराकर गांव के प्रतिष्ठित नागरिक के घर पर कब्ज़ा करने की कोशिश में असामाजिक तत्व पूरे डिडवाडी गांव और पुलिस को दे गए चुनौती!

Yuva Perspectives
Share this post

पानीपत का डिडवाडी गांव जोकि अपनी मुर्राह भैंसों और सरकारी विभागों में अव्वल दर्जे की सेवाएं देने में अग्रणी और प्रसिद्ध है, वहां बीते सप्ताह एक बड़ी घटना होते होते बची है

पानीपत जिले के गांव डिडवाडी के प्रतिष्ठित नागरिक (डॉ ) नरेश कौशिक के घर जिसमें वह 60/70 सालों से भी अधिक से रह रहे हैं, पर गांव के ही विरेन्द्र कुमार और उसके पुत्र कुलदीप शर्मा ने पिछले हफ्ते गांव से बाहर के 20 /25 आपराधिक तत्वों के साथ कब्ज़ा करने की नाकाम कोशिश की। गांव में युवा अपराधियों द्वारा खुले में हथियार और बंदूके लहराने की इस घटना से पूरा गांव आक्रोशित व स्तब्ध है। डिडवाडी गांव के किसी भी प्रतिष्ठित व्यक्ति के घर पर बाहर के गुंडा तत्वों द्वारा कब्ज़ा करने की यह घटना अपराधियों द्वारा पूरे गांव को दी गयी एक खुली चुनौती की तरह है।

पुलिस ने कार्यवाही करते हुए विरेन्द्र कुमार को तो गिरफ्तार कर लिया है पर कुलदीप शर्मा जोकि एक मुख्य अभियुक्त है, वह अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। WeYuva.com की टीम ने आज जाँच अधिकारी श्री सुल्तान सिंह से कुलदीप शर्मा की गिरफ़्तारी के बारे में जानने की कोशिश की और उन्होनें बताया की कुलदीप की गिरफ़्तारी वह आज ही करने का प्रयास करेंगे। WeYuva.com की टीम ने त्वरित कार्यवाही के लिए श्री सुल्तान सिंह के प्रयासों के लिए उनकी सराहना की और अवगत कराया की ऐसे असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार करके उनका हथियारों का लाइसेंस भी निरस्त किया जाना चाहिए। बहरहाल, पुलिस के सामने चुनौती है कि क्या वह आज मुख्य अपराधी और उसके साथियों को गिरफ्त कर पाएंगे या फिर अपराधी उनकी गिरफ्त में आने से पहले ही कोर्ट से जमानत पर रिहा होकर डिडवाडी जैसे सशक्त और समृद्ध गांव के प्रतिष्ठित नागरिकों में दोबारा आतंक मचाएंगे और पूरे गांव को खुले-आम चुनौती देंगे?

हमारी टीम का विचार यह है कि एक युवा जिसे किसी से कोई भी खतरा नहीं है फिर भी अगर उसे सरकार और पुलिस द्वारा हथियार अपनी सुरक्षा के लिए दिया गया है तो उसे उसका इस्तेमाल ग़ैर-ज़रूरी एवं असामाजिक कार्यों जैसे की समाज के प्रतिष्ठित नागरिकों को डराने धमकाने और अवैध कब्जों के लिए नहीं होना चाहिए। अगर कोई भी ऐसे कार्यों को करने में संलिप्त पाया जाता है तो उसका लाइसेंस तुरंत प्रभाव से निरस्त होना चाहिए।

Leave a Reply