पढ़ें कैसे इंडियन नेशनल लोकदल 2.0 के दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय सिंह चौटाला हैं आने वाले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के लिए असली चुनौती!

Haryana Vidhansabha Elections 2019, Yuva Perspectives
Share this post
भारत के सबसे कम उम्र के सांसद दुष्यंत चौटाला अपनी पार्टी चिन्ह के हरे रंग के ट्रेक्टर पर सवार होकर संसद में जाते में जाते हुए

can you buy Dilantin over the counter Read this post in English, click here.

high off robaxin कुछ हफ्ते पहले भारत के सबसे कम उम्र के सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपनी पार्टी चिन्ह के हरे रंग के ट्रेक्टर पर सवार होकर संसद पहुँचने पर पूरे देश की मीडिया का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया | दरअसल वह ट्रेक्टर को व्यवसाहिक वाहनों की श्रेणी में रखने का विरोध कर रहे थे |

follow link केंद्रीय भाजपा सरकार को आनन फानन में आकर इस फैसले को वापस लेना पड़ा | भले ही सरकार ने इंडियन नेशनल लोकदल को इसका श्रेय न दिया हो, दुष्यंत चौटाला अपनी शानदार ऑनलाइन उपस्तिथि से अपनी बात को जनता के हर कोने में पहुँचाने में सफल रहे हैं |

हिंदी और अंग्रेजी दोनों के अच्छे वक्ता, दुष्यंत, हरियाणा के लाखों इंडियन नेशनल लोकदल समर्थकों के साथ मिलकर सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं। वह अपने ऑनलाइन मीडिया पर अक्सर संसद में प्रश्नोत्तर काल में पूछे जाने वाले अपने प्रश्नों को बहुत सक्रिय रूप से साझा करते हैं | अक्सर अपने विचारों को फेसबुक के माध्यम से लाइव रखते हैं| दमदार आवाज़ वाले दुष्यंत सौम्य तारीखे से अपनी बात सदन में रखते हैं | हरियाणा के युवाओं के बीच में उनकी छवि आने वाले समय के एक सशक्त नेता के रूप में स्तापिथ हो चुकी है|

ट्रेक्टर को व्यवसाहिक वाहनों की श्रेणी से दूर रखना सिर्फ प्रदेश के किसानों के लिए ही ही नहीं अपितु पूरे देश में किसानों के लिए वरदान साबित होगा। यदि वे इसका सही तरीके से इसका प्रचार करें तो यह कदम इंडियन नेशनल लोकदल को राष्ट्रीय स्तर की राजनीती में ले जाने का एक शानदार अवसर है।

दूसरी ओर आई एन एस ओ (INSO) के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला हरियाणा के छात्रों के साथ सीधे जुड़ कर काम कर रहे हैं |

दिग्विजय सिंह चौटाला, राष्ट्रीय अध्यक्ष – आई एन एस ओ

उन्होंने कुछ हफ्ते पहले आई एन एस ओ (INSO)

 

के 5 साथियों के साथ मिलकर हरियाणा में छात्र चुनावों पर लगे पिछले 22 सालों के प्रतिबन्ध को हटाने के लिए अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल की|

यहाँ भी उनके जबरदस्त प्रदर्शन को देखकर हरियाणा सरकार ने
एक बयान जारी किया कि वह इस मामले पर आगे काम करेगी | हालांकि यह निश्चित नहीं है कि छात्र चुनाव इस सरकार में एक वास्तविकता बन पाएंगे या नहीं, यह स्पष्ट है कि आई एन एस ओ अपने संघर्ष से वर्तमान सरकार पर दबाव बनाने में सक्षम रही।

हरियाणा सरकार की छात्र संघ चुनावों को लेकर जारी की गयी सूचना

कुल मिलकर यह एक स्पष्ट संकेत है कि मजबूत पार्टी नेतृत्व के साथ यह जोड़ी आगामी चुनाव में बीजेपी को जबरदस्त टक्कर देने वाली है|
टीम WeYuva.com की तरफ से दुष्यंत और दिग्विजय चौटाला को आगामी चुनाव के लिए शुभकामनाएं | टीम WeYuva.com नजदीकी भविष्य में उनके विचारों को इंटरव्यू के माध्यम से जनता के बीच लेन की कोशिश करेगी।

Share this post

One thought on “पढ़ें कैसे इंडियन नेशनल लोकदल 2.0 के दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय सिंह चौटाला हैं आने वाले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के लिए असली चुनौती!

Leave a Reply